छत्तीसगढ़ म सबले जादा वनोपज खरीदी

छत्तीसगढ़ म सबले जादा वनोपज खरीदी

वनवासी अउ लघु वनोपज संगराहक के जीवन म बदलाव लाय बर ढाई साल म राज्य सरकार ह बड़का फइसला लेय हे। जउन वनोपज कम दाम म बिकत रहिस वोहा अब जादा दाम म मिलत हे। जेसक सीधा लाभ वनोवज संगराहक मन ल मिलत हे। ओकर जीवन म बदलवा आगे हे। उंही छत्तीसगढ़ देस के 74 परतिसत वनोपज खरीदी करिस। अउ ये मामला म देश म अव्वल आइस।

बता दन कि मुख्यमंतरी भूपेश बघेल के पहल के बाद वनोपज संगराहक मन ल ओकर मेहनत के पुरा दाम मिलत हे। लघु वनोपज के खरीदी मुल्य ल बढ़ाय गिस अउ संगे-संग तेंदुपत्ता के दाम ल 25 सौ रुपए मानक बोरा ले सीधा 4 हजार रुपया मानक बोरा करे गिस।
महुआ के समरथन मुल्य 17 रुपया बढ़ाके 30 रुपया परति किलो करे गिस। अइसने ही इमली के 25 रुपया बढ़ा के 36 रुपया, चिरौंजी गुठली 93 रुपए बढ़ाके 126 रुपया परति किलो समरथन मुल्य करे गिस।

वन बिभाग के अधिकारी मन बताइन कि छत्तिसगढ़ देस के 74 परतिसत वनोपज खरीदी के रिकार्ड बनाइस। छत्तिसगढ़ देस के एक मातर राज्य हरय, जिहां 52 परकार के लघु वनोपज ल राज्य सरकार ह समरथन मुल्य म खरीदत हे। समरथन मुल्य वन उत्पाद खरीदी ले वनवासी अउ वनोपज संगराहक मन के जीवन म बदलाव आइस।
बस्तर क्षेतर म ईमली, महुआ, टोरा, चिरौंजी, कुसुमी लाख, रंगीनी लाख, हर्रा, बहेड़ा, सालबीज, कचरिया जइसे औसधी गुन वाले लघु वनोपज के संगरहन करे जात हे।

अधिकारी मन बताइस कि कांकेर जिला म लघु वनोपज के खरीदी महिला स्व-सहायता समुह के माध्यम ले करे जात हे, येकर ले वनोपज संगराहक मन के संगे-सगे महिला स्व-सहायता समुह ल घलो रोजगार के अवसर मिलत हे। जिला म बछर 2019 ले 2021 तक लमसम 6 लाख 43 हजार क्विंटल लघु वनोपज के खरीदी करे गेय हे। येकर बर संगराहक मन ल 18 करोड़ 55 लाख 77 हजार रूपया के भुगतान करिस। ये अवधि म राज्य सरकार जिला म तेन्दुपता संगराहक मन ले लगभग 5 लाख 96 हजार मानक बोरा तेंदुपत्ता के खरीदी चार हजार परति मान बोरा के दाम म करे हे। येबर बर तेंदुपत्ता संगराहक मन 2 अरब 38 करोड़ 26 लाख रुपया के भुगतान करे गिस।

Leave a Reply

Your email address will not be published.