देस के मुख्यमंतरी अगुवा भूपेश बघेल

देस के मुख्यमंतरी अगुवा भूपेश बघेल

मुख्यमंतरी भूपेश बघेल अपन काम के सेती दूसर मुख्यमंतरी मन ले बहुत आगु हवय। ये बात आईएनएस-सी वोटर स्टेट ऑफ द नेशन 2020 सर्वे म साबित होइस हे। जेमा वोहा देश के दूसरा सबले ज्यादा पसंद करइया मुख्यमंतरी अऊ कांग्रेस सासित राज्य के मुख्यमंतरी म पहिली स्थान म आय हवय।

रायपुर। मुख्यमंतरी भूपेश बघेल देस के टॉप 10 मुख्यमंतरी के सूची म दूसरा स्थान म आय हवय। देस के आने-आने राज्य म सरकार के काम-काम ऊपर जनता के संतुष्टि के एक सर्वे करे गिस। सर्वे के बाद मुख्यमंतरी मन के सूची जारी करे गिस। येमा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंतरी भूपेश बघेल टॉप-10 के सूची म सामिल होइन। ये सर्वे आईएनएस सी वोटर ह कराइस, जउन एक भारतीय अंतरराष्ट्रीय मतदान एजेंसी हरय। सी वोटर्स के ये सर्वे म छत्तीसगढ़ सरकार के काम ल 56.74 फीसदी लोगन पुरा अऊ 33.25 प्रतिशत लोगन कम संतुस्ट हे। कुल 81.06 प्रतिसत संतुस्टि के संग भूपेश बघेल सरकार देस म दूसरा नम्बर म आइस।

अपना वादा ल पूरा करिन
भूपेश बघेल ह चुनई जीते के बाद अपना वादा के अनुसार 25 सौ क्विंटल म धान खरीदिस, अऊ अंतर के रुपया ल राजीवी गांधी किसान न्याय योजना के जरिए 19 लाख ले ज्यादा किसान के खाता म 5750 करोड़ रुपया जमा करहि।
दूसर राज्य के तुलना म कम कीमत म लोगन ल बिजली मिलत हे. येखर संग ही लोगन ल सब्बो सरकारी योजना के लाभ सीधा मिलत हे। येकर सेती प्रदेस के लोगन के आर्थिक स्थिति म सुधार आवत हवय। अऊ गांव, गरीब, किसान के जेब म पइसा पहुंचत हवय।
न्याय योजना ले प्रदेस के भूपेश सरकार ह जउन वादा चुनई म करे रहिस ओला पुरा करत हे। अऊ कोरोना संकट के बिपति के बेरा पइसा मिले ले लोगन मन ल राहत मिलिस। येखर ले मजदूर, किसान सब्बो के जीवन म खुसहाली आइस हे। मजदूर, किसान के हाथ म पइसा आइस त व्यापार अऊ व्यवसाय घलो बाढ़िस, येकर सेती प्रदेस के आर्थिक स्थिति म सुधार आइस हे।

भूपेश बघेल ले थोड़किन आगु 82.96 प्रतिशत संतुस्टि के संग ओडिशा सरकार रहिन। पड़ोसी राज्य ओडिशा के मुख्यमंतरी नवीन पटनायक पहिली नंबर पर रहिन। उंहे मध्यप्रदेश के मुख्यमंतरी शिवराज सिंह चौहान 12वें नंबर पर रहिन। कोरोना संकट काल म देसभर म सब्बो काम अऊ धंधा ठप हे, अइस म छत्तीसगढ़ सरकार ह दूसर राज्य के तुलना म लोगन के हित म ज्यादा काम करिन। येकर फल आज भूपेश बघेल ल देस के नंबर 2 मुख्यमंतरी के रूप म मिलिस।

Leave a Reply

Your email address will not be published.