मुनगा के खेती करही मालामाल : चटकारा के संग समाचार

संतुलित आहार के पूर्ति अउ किसान मन के आमदनी दुगुना करे बर उद्यान विभाग डाहर ले संचालित अब्बढ़ अकन योजना मन के माध्यम ले रोपे जाए वाले फसल मन म मुनगा के स्थान विशेष हवय। मुनगा न केवल सब्जी भर बर उपयोगी हे भलकुन ये ह औषधी गुण ले घलो भरपूर हे। शरीर म आवश्यक खनिज मन के पूर्ति अउ बीमारी मन ल दूरिहा करे बर मुनगा अउ एकर भाजी के उपयोग करे जाथे। एला धियान म रखत जिला के किसान मन ल मुनगा के खेती बर प्रेरित करे गे हे। इच्छुक किसान मन ल मनरेगा डाहर ले उत्पादित मुनगा पेड़ के फोकट म वितरण उद्यान विभाग के रोपणी मन में करे गे हे।




जानबा होवय कि परंपरागत रूप ले धान अउ अइसेनेहे आने आने फसल के उत्पादन म 3 बछर म जतका आय होही ओकर ले कहीं अधिक मुनगा के फसल ले आमदनी होही।

चटकारा
बंठा:- का मुनगा बरी ल राँधथस दाई, लकड़ी बरोबर चीथे -चाबे बर लगथे।
सुकलिया:- बेटा ! मुनगा ले पुस्टई तो कुकरी -कुकरा नइ होवय रे। छेवरिहा माइलोगन तको मुनगा- बरी खाके चार दिन म फुन्ना जथे, नइ जानस ?




Related posts