नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी के समाचार

बालोद जिला म परगट होवत हे नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी
आदर्श गौठान ‘‘चरोटा‘‘ म मोहावत हें गरूवा

बालोद, बालोद जिला म राज्य शासन के महत्वाकांक्षी नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी के संरक्षण, संवर्धन काम अब परगट दिखे लगे हे। जिला मुख्यालय ले लगभग पॉच किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत उमरादाह के आश्रित ग्राम चरोटा के आदर्श गौठान म गौवंशीय पशुधन लोभा के रोजेच पहुंचत हें। पशुधन इहॉ गॉव ले निकलके दरदोरा नरवा के पारे-पार गौठान पहुंचत हें। यहॉ पेड़ के तरी किसान मन कोति ले देहे गए पैरा खाके अऊ स्वच्छ पानी पीके गौठान म बिलम के घर चल देवत हें।



कलेक्टर श्रीमती रानू साहू के मार्गदर्शन म ग्राम चरोटा म ढाई एकड़ के जुन्ना गौठान ल ‘‘गरूवा‘‘ कार्यक्रम के तहत नवा रूप म विकसित करे जात हे। इहॉ बनाय गए गौठान म बड़ संख्या म गॉव के गौवंशीय पशु पहुंचत हें। गौठान म पशु मन बर चारा, पानी, छइंहा के व्यवस्था अऊ चारों तरफ फेंसिंग करे गए हे। कृषि विभाग कोति ले पशु मन के गोबर अऊ चारा के अवशेष ले वर्मी कम्पोस्ट खाद तियार करे बर वर्मी कम्पोस्ट बेड बनाय गए हे। पशु मन बर स्वच्छ पेयजल बर ट्यूबवेल स्थापित करे गए हे। पशु मन के टीकाकरण अउ नस्ल सुधार अऊ आन स्वास्थ्यगत देखभाल पशु चिकित्सा विभाग कोति ले करे जाही। इहॉ चारागाह विकास बर काम करे जात हे। उद्यानिकी विभाग कोति ले बारी विकास के काम करे जात हे। गौठान के तिर म बोहइया दरदोरा नाला म ‘‘नरवा‘‘ कार्यक्रम के अंतर्गत साफ-सफाई अऊ तटबंध निर्माण के काम कराये गए हे।




http://hanka.gurturgoth.com/balod-jila-ke-charota-ma-gothan/

बलरामपुर म 30 करोड़ 77 लाख 68 हजार रूपिया के लागत ले बनत हे 62 गांव मन म गोठान
गोठान म मिलही मवेशी मन ल बने सुविधा

बलरामपुर, छत्तीसगढ़ शासन के महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बारी योजना के क्रियान्वयन बर बलरामपुर-रामानुजगंज जिला म कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा अऊ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हरीष एस. के मार्गदर्शन म 62 ग्राम पंचायत मन के चयन करके कुल 391.24 हेक्टेयर रकबा म 30 करोड़ 77 लाख 68 हजार रूपिया के लागत ले गोठान के निर्माण काम चालू करे गए हे। विकासखण्ड बलरामपुर, कुसमी अऊ राजपुर के 10-10 ग्राम पंचायत मन बर प्रति विकासखण्ड 04 करोड़ 96 लाख 40 हजार, रामचन्द्रपुर अऊ वाड्रफनगर के 12-12 ग्राम पंचायत मन बर प्रति विकासखण्ड 5 करोड़ 95 लाख 68 हजार अऊ शंकरगढ़ के 08 ग्राम पंचायत बर 03 करोड़ 97 लाख 12 हजार रूपिया के गोठान निर्माण काम कराये जात हे।



नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बारी योजना के तहत् जिला म गोठान निर्माण काम बर विकासखण्ड बलरामपुर के ग्राम पंचायत जाबर, भेलवाडीह, महराजगंज, गिरवरगंज, सागरपुर, सरनाडीह, पुटसुरा, भैसामुण्डा, मुरका, सोनहरा, विकासखण्ड कुसमी के ग्राम पंचायत सामरी, श्रीकोट, हर्री, बसकेपी, गोपीनगर, चांदो, सबाग, बेंतपानी, विकासखण्ड राजपुर के ग्राम पंचायत मदनेश्वरपुर, अमड़ीपारा, चटकपुर, लाऊ, लडुवा, नवकी, सिंगचौरा, चन्द्रगढ़, धंधापुर, गोपालपुर, विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के ग्राम पंचायत अनिरूद्धपुर, गम्हरिया, परहीयाडीह, ताम्बेश्वरनगर, शिवपुर, मितगई, छत्तरपुर, जामवंतपुर, नवाडीह, त्रिकुण्डा, बगरा, रामचन्द्रपुर, विकासखण्ड शंकरगढ़ के ग्राम पंचायत कमारी, सिहार, चलगली, मनकेपी, खैराडीह, गम्हारडीह, बेलसर, सरगवां अऊ विकासखण्ड वाड्रफनगर के ग्राम पंचायत बरतीकला, स्याही, महेवा, कोटराही, सरूवत, गोबरा, अमरावतीपुर, मुरकौल, मानपुर, पड़ौली, ओदारी अऊ बसंतपुर ग्राम पंचायत ल सम्मिलित करे गए हे।
http://hanka.gurturgoth.com/balarampur-m-narava-garuva-bari/

ग्रामीण अर्थव्यवस्था के आधार बनत हे ’नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी’
जांजगीर-चांपा जिला म 136 गौठान बर 22 करोड़ के स्वीकृति

रायपुर, छत्तीसगढ़ राज्य के जांजगीर-चांपा कृषि प्रधान जिला हे, इहां के महानदी, हसदेव नदी, लीलागर नदी के जल अऊ हसदेव-बांगो बांध के सिचाई के लाभ इहां के मेहनतकश किसान लेथें। राज्य सरकार ह अब इही दिशा म अऊ आगू बढ़त खेती-किसानी के संगें-संग ग्रामीण अर्थव्यवस्था ल जादा बेहतर बनाए बर ’नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी‘ ल मॉडल तरीका ले क्रियान्वित करे के योजना चालू करे हे। जिला म एखर बर 136 गौठान स्वीकृत करे गए हे।




इही अवधारणा के तहत ग्रामीण क्षेत्र मन के पारंपरिक अऊ प्रचलित व्यवस्था गौठान अऊ चारागाह ल फेर मजबूत करना अऊ बनाए रखना हे। जांजगीर-चांपा जिला म एखर तहत सबले कम तीन एकड़ जमीन म औसत 300 पशु मन के दृष्टि ले गौठान बनाये जात हे। गौठान के चारों कोति बाहरी परिधि म वाटर एब्जॉर्प्सन ट्रेन्च, मध्य म चैन लिंक्ड वायर मेश फैसिंग, अंदरूनी परिधि म पैटल पु्रफ ट्रेन्च, गोबर संग्रहण बर कम्पोस्टिंग पिट, पानी के सोलर ऊर्जा ले संचालित पंप, जल निकासी बर नाली, कीचड़ ले बचाव बर मुरूम-स्टोन डस्ट के बिछाव करे गए हे। पशु मन के पीए बर पानी के टंकी, कम्पोस्ट खाद निर्माण बर नाडेप अऊ वर्मी कम्पोस्ट टंकी तैयार करे जात हे।
http://hanka.gurturgoth.com/grameen-arthvyavastha/

बेमेतरा जिला म 66 गौठान निर्माण बर 12 करोड़ 68 लाख रूपिया स्वीकृत
सरकार के योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बारी, के संरक्षण अऊ संवर्धन के प्रयास जारी

बेमेतरा, प्रदेश सरकार के योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बारी, के संरक्षण अऊ संवर्धन बर जिला म विशेष कदम उठाए जात हे। बेमेतरा जिला के 04 विकासखण्ड मन म 66 गौठान निर्माण बर 12 करोड़ 68 लाख रूपिया स्वीकृत करे गये हे। कलेक्टर महादेव कावरे ह बताइस कि एमां बेमेतरा विकासखण्ड के 19 काम मन बर 358.89 लाख रूपिया नवागढ़ ब्लाक म 15 काम बर 289.55 लााख रूपिया साजा के 19 काम बर 369.62 रूपिया अऊ बेरला ब्लाक के 13 काम बर 249.66 लाख रूपिया मंजूर करे गये हे। अइसनहे बेमेतरा जिला के जिया नाला, घोघरा नाला, खोवा नाला, बेरला नाला, करूवा/गोरेघाट नाला, म डाइट कम बोल्डर निर्माण , चेक डेम निर्माण, 47 काम बर 205.21 लााख रूपिया स्वीकृत करे गये हे। नाडेप टेंक निर्माण बेमेतरा म 297 काम बर 8.24 लाख रूपिया, नवागढ़ 415 काम बर 7.71 लाख रूपिया, साजा, 135 काम बर 18.62 लाख रूपिया अऊ बेरला 1167 काम बर 18.62 लाख रूपिया सामिल हे।



कलेक्टर ह बताइस कि जिला म घुरूवा/नाडेप के कुल 1513 काम स्वीकृत करे गये हे। बारी विकास के अंतर्गत 3077 संर्वेक्षण कर ले गए हे। ये मां मुनगा, पपीता, सीताफल, अमरूद, बरबट्टी, रमकेरिया के पौधा लगाए जाही। कलेक्टर ह बताइस कि चारागाह निर्माण के जिला म कुल 48 काम स्वीकृत करे गये हे। जेमां प्रगतिरत काम 22 हे। जेमां जुताई के काम प्रगति म हे। आदर्श गौठान म जुताई काम पूरा कर के ग्राम बटार अऊ ग्राम बिलाई म घास मक्का लगाए जात हे। सबो चारागाह म चारा लगाये बर पशुपालन विभाग कोति ले वर्सीम, मक्का जौ, अऊ निपियर तैयार करे जात हे। 2.50 लाख नेपियर के पौधा आर्डर करे जा चुके हे। चारागाह निर्माण बर सी.पी.टी. डबरी, वृक्षारोपण, जुताई के काम स्वीकृत करे गए हे अऊ बोर खनन बर पीएचई विभाग ल निर्देशित करे जा चुके हे। सबो गांव मन म एस.एच.जी महिला मन अऊ ग्राम गौठान समिति कोति ले रात्रि चौपाल अऊ दिन म रैली निकालके गांव वाले मन ल जागरूक करे जात हे। यादव समुदाय के घर महिला मन ल एस.एच.जी म जोड़े के काम करे जात हे। जेखर से उमन ल अऊ लाभ देहे जा सकय।
http://hanka.gurturgoth.com/bemetara-ghuruva-narva-bari/

जिला म 83 गौठान के निर्माण : सबो ब्लाक मन म एक-एक मॉडल गौठान

उत्तर बस्तर कांकेर, नरवा, गरूवा, घुरवा अऊ बारी योजना अंतर्गत कांकेर जिला म 83 गौठान मन के निर्माण करे जात हे। जहां पशु मन बर चारा, पानी के व्यवस्था करे जात हे। एखर से पशुधन संर्वधन म मदद मिलही अऊ जैविकखाद के निर्माण ले गांव वाले मन ल आय के जरिया घलोक मिलही। सबो पशु गौठान म एकत्रित होही, एखर से गांव मन म घुमइया पशु मन ले फसल के नुकसानी रूकही। गौठान म गांव के सबो पशु मन के स्वास्थ्य परीक्षण अऊ टीकाकरण सुनिश्चित होही।




कांकेर जिला के सबो विकासखण्ड मन म एक-एक मॉडल गौठान के निर्माण घलोक करे जात हे। कांकेर विकासखण्ड म सरंगपाल, नरहरपुर म मानिकपुर, चारामा विकासखण्ड म लखनपुरी, भानुप्रतापपुर म मुगवाल, अंतागढ़ म बोदनार, दुर्गूकोंदल म कर्रामाड़ अऊ कोयलीबेड़ा विकासखण्ड के ग्राम हरनगढ़ म मॉडल गौठान बनाये जात हे। ए गौठान मन म सीपीटी निर्माण अऊ पानी, सोखता गड्ढा के निर्माण काम पूरा हो चुके हे। सबो गौठान मन म कटघरा के स्थापना हो गे हे अऊ गौठान समिति अऊ चरवाहा समिति के गठन करे जा चुके हे। गौठान म फेंसिंग के काम प्रगति म हे। पशुधन के पानी पीए बर हर एक गौठान म चार-चार पानी के टंकी, तीन-तीन कोटना अऊ तीन हार्सपावर के सौर ऊर्जा बोरवेल करे गए हे। जेखर से पशु मन ल शुद्ध पीये के पानी मिलही। सबो मॉडल गौठान मन म मचान अऊ पैरावट के रूप म एक महीना के पैरा ग्राम वासी मन के मदद ले एकत्र करे गए हे। हरियर चारा के उपलब्धता बर हर एक गौठान तीर पांच ले बीस एकड़ जमीन म चारागाह बनाये जात हे, जिहां हाईब्रिड नेपियर घास, मक्का, ज्वार, बरसीम आदि चारा के बोआई होवत हे, एखर से बहुत मात्रा म पशु मन ल हरियर चारा सालभर मिलत रहिही संगेच उंखर स्वास्थ्य अच्छा रहिही।

पशुधन विकास विभाग कोति ले सबो गौठान म नियमित रूप ले पशु मन के स्वास्थ्य परीक्षण करे जात हे। मौसमी बीमारी मन ले बचाव बर शत प्रतिशत पशु मन म एचएस अऊ बीक्यू, बिमारी मन के टीकाकरण अऊ कृत्रिम गर्भाधान के काम करे जात हे। गौठान म पशु मन के आना शुरू हो चुके हे, नरहरपुर विकासखण्ड के मानिकपुर गौठान म गांव के 60 ले 70 प्रतिशत पशु प्रतिदिन गौठान म आवत हें।



http://hanka.gurturgoth.com/kanker-m-gouthan/

उवत- बूड़त सूरूज के अद्भुत नजारा
रमणीय स्थल बन गे हे रेमने के दैहान, उवत- बूड़त सूरूज के दिखथे अद्भुत नजारा

धमेन्‍द्र निर्मल के सार समाचार, जशपुर जिला के मनोरा ब्लॉक के गाँव रेमने गेड़ई म छत्तीसगढ़ शासन के नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बारी योजना के तहत विकसित दैहान गाए-गरूवा मन बर भर नही भलकुन मनखे मन बर घलो एक ठो रमणीय स्थल बन गे हवय। दैहान अउ एकर तीर – तखार के प्राकृतिक सौन्दर्य ह देखेच के लइक हे। दैहान के बने उपर ले मनखे मन के तको चाहल-पाहल ये कुतन बाढ़ गे हे। रेमने गेड़ई म ग्रामीण अर्थव्यवस्था ल बने बनाए उद्देश्य ले नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बारी योजना के तहत साढ़े पांच एकड़ के जघा म दैहान विकसित करे गे हवय। इहां लगभग 17 एकड़ रकबा चरागन विकास अउ आने आय मूलक गतिविधि मन बर सुरक्षित हे। दैहान म अवइया गाय -गरूवा मवेषी मन के हरियर चारा के व्यवस्था बर चरागन बर 17 एकड़ भूईयाँ म ले पहिली पहिलावत तीन एकड़ भूईयाँ म हरियर चारा के बोवई बर जोतई अउ आने तियारी शुरू हो गे हवय।




रेमने गेड़ई म विकसित दैहान देखेच के लइक हे। बताथे कि इहां से उवत अउ बूड़त सूरूज के अब्बड़ सुग्घर मनोरम दृश्य देखई देथे। गाँव वाले अउ जानकार लोगन मन के कहना हवय कि रेमने गेड़ई के दैहान वाले हिस्सा ले उवत अउ बूड़त सूरूज के अकार हँ सर्वाधिक स्पष्ट अउ बड़े दिखई देथे। जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अनिल कुमार तिवारी मन बताइन कि आज लेे चार महिना पहिली तक जंगल -झाड़ी रेहे ये जगा अब दैहान के बने उपर ले गाँव वाले मन के मनभावन जगहा बन गे हवय। इहां बिहिनिया ले लेके मुंधियार के होवत तक मनखे मन के आवाजाही लगे रहिथे। रेमने दैहान म 409 गाय जात (गौवंशीय) अउ 705 अजावंशीय (छेरी जात) के चारा पानी, घूमे फिरे अउ विश्राम के बेवस्था हे। मवेषी मन के पीए के पानी बर इहां तीन ठन टाँका अउ चाराखाए बर कोटना के निर्माण कराए गे हावय। जिनावर मन के विश्राम बर तीन जगा म चबूतरा अउ पैरा राखे बर 10 ठन मचान बनाए गे हे। ईब नदिया के पार म स्थित ये दैहान म जलापूर्ति सोलर सिस्टम स्थापित करे गे हावय।
http://hanka.gurturgoth.com/garuva-ghuruva-bari/


Related posts