बाढ़ सकत हे सोयाबीन के रकबा

इफको किसान, खबर हवय के 2019 के अवईया खरीफ सीजन म सोयाबीन के रकबा बाढ़ सकत हे। एकर पीछू एखर बाढ़त मांग के संगें-संग एकर बाढ़त कीमतें ह कारन ये। वनस्पति तेल के आयातक देश मलेशिया, ब्राजील, अर्जेंटीना अऊ इंडोनेशिया सोयाबीन के तेल ल बढि़या कीमत म खरीद सकत हे। उन्‍हें सोयाबील के मांग जापान, बांग्लादेश, वियतनाम अऊ ईरान जइसन देश मन म बाढ़त हे। सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SOPA) के मुताबिक पाछू साल 1 अकटूबर 2018 के बाद ले स्थानीय सोयाबीन के कीमत करीबन 14% बढ़के 3,716 रुपये…

Read More

लउहे मिलही करिया गेहूं

इफको किसान, अभी हमार देश म गेहूं के सफेद किस्म ही बोये जाथे फेर अब जल्दीच हम रंगीन गेहूं के क़िस्म के खेती कर सकबोन। करीबन एक दशक के शोध के बाद मोहाली म राष्ट्रीय कृषि-खाद्य जैव प्रौद्योगिकी संस्थान (एनएबीआई) म कृषि जैव प्रौद्योगिकीविदों ह ए रंगीन गेहूं किस्म ल विकसित करे हे। अभी गेहूं के ए क़िस्म मन म शोध काम जारी हे। काला गेहूं म सामान्य गेहूं के तुलना म 28 गुना एन्थोकायनिन होथे। एनएबीआई के एक शोध म पता चले हे के काला गेहूं शरीर म वसा…

Read More

दिल्लीवासी मन के रंघनी म छत्तीसगढ़ के सुगंधित चांउर बढ़ाही महमहई

रायपुर, छत्तीसगढ़ के महमहई चांउर के मांग अब प्रदेश समेत आन राज्य मन तको होए लगे हे। सुगंधित धान के पैदावार ह किसान मन के आर्थिक स्थिति म बढ़ोतरी तो करेच हे संगें-संग प्रदेश के नाम तको अन्य राज्य मन म सुगंधित चावल उबजईया राज्‍य के रूप म बगरावत हे। अइसे म अब देखे म आवत हे के किसान तको मोटा धान के बदला पतला अउ खुशबूदार धान के फसल लेना शुरू कर देहे हे। एकर से अधिकांश जिला में तगडा मुनाफा देवइया सुगंधित धान के किसम खेत मन म…

Read More

किसान भाई मन देरी से पकईया धान बर हो जाव तियार

इफको किसान, ए बेरा म सबो किसान भाई अवईया खरीफ मौसम म लेहे जाय वाले फसल मन के तियारी म बिपतियायें हें। अइसन म इही बेरा म देरी ले पकईया धान के किस्म जइसे -राजश्री, राजेंद्र मंसूरी, राजेंद्र श्वेता, किशोरी, स्वर्णा, स्वर्णा सब-1, बी .पी.टी.5204 अउ सत्यम के नर्सरी 25 मई तक लगा सकत हें। येकर बर नर्सरी के तियारी करे म सड़े गोबर के खाद के उपयोग करंय ,नर्सरी म क्यारी के चौड़ाई 1 -1.5 मीटर अउ लम्बाई सुविधानुसार रखंय। एक हेक्टेयर क्षेत्रफल म रोपाई बर 800-1000 वर्गमीटर क्षेत्रफल…

Read More

दुबराज धान के नवा किसिम, लउहे मिलही बिजहा

इफको किसान, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय अऊ भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के वैज्ञानिक मन ह छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध बारीक किसिम दुबराज धान के नवा प्रजाति छत्तीसगढ ट्रांबेम्यूटन विकसित करे हें। दुबराज धान के जुन्ना किसिम म प्रति हैक्टेयर 15-20 क्विंटल तक उत्पादन प्राप्त होत रहिस जबकि मेहनत अउ लागत जादा लगत रहिस। जेखर सेती एखर खेती कम हो गे रहिस। अब एखर नवा किसिम ले एक हैक्टेयर म लगभग 48 क्विंटल तक के फसल लेहे जा सकही अऊ ये 135 दिन म तियार हो जाही। छत्तीसगढ ट्रांबेम्यूटन किसिम ले उत्पादन…

Read More

जंगली जानवर अउ बेंदरा मन ले अपन फसल ल बचाए बर आगे झटका मशीन

कई किसान भाई मन के मुह ले सुने ल मिलथे के उन बड़ मेहनत करके फसल लगाईन अऊ जंगली जानवर या आवारा पशु मन उंकर फसल ल चर दीस या बर्बाद कर दीस। किसान मन अपन खेत ल बारबेट वायर या कांटा तार ले घेरे रथें तउनो ल बंदेलिन गाय अउ जंगली सूंरा मन उधेन के टोर देथें अउ किसान के खेत ल बरबाद कर देथें। कभू-कभू रीस म कई झन किसान मन ये कांटा तार म बिजली के करेंट लगा देथें, ये करेंट ले जानवर मन अउ कभू कभार…

Read More

किसान बिना कोचिया (बिचौलिया) के बेंच सकही सब्जी, योजना फेल

रायपुर, पहिली आवव पहिली पावव के तर्ज म किसान मन बर देवेंद्रनगर स्थित किसान मंडी तैयार करे गए रहिस, फेर करीबन दू करोड रुपिया खरच करे के बाद घलोक योजना के फायदा किसान मन ल नइ मिल पावत हे, जबकि अधिकारी मन के कहना हे के ए योजना के माध्यम ले एक तरफ जिहां शहरवासी मन ल सीधा खेत ले फल, सब्जि अऊ दूध मिलही। उन्‍हें किसान मन ल घलोक बिना कोनो कोचिया (बिचौलिया) के सीधा ग्राहक मन ल उत्पाद बेचे ले जादा मुनाफा मिलही। छत्तीसगढ राज्य कृषि मंडी बोर्ड…

Read More

नेफेड न्यूनतम समर्थन मूल्य म 15-20 लाख टन दलहन खरीदही

इफको किसान, सहकारी संस्था नेफेड के चालू रबी कटाई सीजन म किसान मन से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) म 15-20 लाख टन दलहन और 20 लाख टन सरसों खरीदे के योजना हे। किसान मन ल एमएसपी देवाए बर सरकार कोति ले नेफेड, दलहन अउ तिलहन ल बिसाही। उमन कहिन कि सहकारी समिति मन ह ए खरीदी बर धन के व्यवस्था कर लेहे हे। नेफेड तिर 35 लाख टन दार के भंडार पहिलिच ले हे। दाल के स्टॉक के निपटान बर केंद्र, राशन के दुकान मन के माध्यम से वितरण बर…

Read More

नवा यूरिया नीति-2015 के समय बाढि़स

नई दिल्ली, केन्द्र सरकार कोति ले नवा यूरिया नीति 2015 के अवधि ल एक अपरेल, 2019 ले अवइया निर्णय आए तक बढा देहे गए हे। पउर साल मार्च म यूरिया फैक्‍टरी मन बर ऊर्जा नियम मन ल संशोधित करे गए रहिस। नवा यूरिया नीति के बेरा बाढ़ जाए ले ये यूरिया कंपनी मन अपन परिचालन जारी रख सकहीं अऊ किसान मन ल यूरिया के सरलग आपूर्ति होत रइही। साल 2015 म नवा यूरिया नीति-2015 ह अवईया चार वित्त वर्ष बर लागू करे गए रहिस। ए नीति के उद्देश्य यूरिया के…

Read More

गेंगरूवा (केंचुवा) के नवा प्रजाति “जय गोपाल”

पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई) ह स्वेदशी केंचुवा के प्रजाति “जय गोपाल” विकसित करे हे। ये केंचुआ 2 ले 46 डिग्री सेल्सियस तापमान म घलोक जिन्दा रइही। दुसर प्रजाति मन के केंचुवा मन 30 ले 40 डिग्री तापमान म ही जिन्दा रहिथें। “जय गोपाल” प्रजाति के केंचुवा ले बने जैविक खाद बनेच गुणवत्ता वाले होथे। ए केंचुवा मन म एमीनो एसीड अऊ प्रोटीन होथे जऊन मुर्गीपालन अऊ मछली पालन म आहार के काम घलोक करथे। ए केंचुवा मन के विकसित होए ले किसान मन ल अच्छा लाभ मिलही। गोबर अऊ जैविक…

Read More