राजनांदगांव म होही बाल अधिकार उल्लंघन के शिकायत मन के सुनवाई 12 जुलाई के

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग नई दिल्ली डाहर ले लइका मन के अधिकार के उल्लंघन ले जुरे शिकायत मन के जॉच आयोग डाहर ले गठित समाधान बेंच के आगू म 12 जुलाई 2019 के कलेक्टोरेट राजनंादगांव म कोनो भी मनखे (जइसे लइका, दाई -ददा, अभिभावक, कार्यवाहक) या कोनो आने मनखे शिकायत दर्ज करा सकत हे।




बेमेतरा कलेक्टर श्री महादेव कावरे ह बताइन कि इन सब समस्या मन के समाधान संबंधित विभाग मन डाहर ले करे जाही। पंजीयन बिहिनिया नौ बजे ले करे जाही अउ बइठका 10 बजे ले प्रारंभ होही। बाल अधिकार मन के उल्लंघन के संबंध म कुल 33 विषय मन उपर अपन समस्या अउ शिकायत मन ल समाधान बर दर्ज करा सकत हें। जइसे – बाल श्रमिक के रूप म खतरनाक जगहा मन म लइका मन के उपयोग, कोनो किसम के परिश्रम या क्षतिपूर्ति के पइसा प्राप्त नइ होना, लइका मन डाहर ले सड़क म सामान बेचना, एसिड आक्रमण ले जुड़े मामला, दाई -ददा अभिभावक या आने अउ कोनो मनखे डाहर ले लइका मन ल भिक्षावृत्ति करे बर बिबस करना, शारीरिक शोषण, लैंगिक हमला, परित्यक्त, उपेक्षित, घरेलू हिंसा ले पीड़ित, एचआईव्ही ले ग्रसित लइका मन संग भेदभाव, पुलिस डाहर ले शोषित-प्रताड़ित, बाल देखरेख संस्था मन म प्रताड़ित शोषित लइकन, अवैध रूप ले गोद लिए लइकन, बाल देखरेख संस्था मन म रहइया लइकन के मानव तस्करी, लइकन के खिलाफ हिंसा, कोनो मनखे अथवा संस्था के लापरवाही के कारण होए लइका मन के मौत, लइकन मन के अपहरण, इलेक्ट्रानिक, सोशल अउ पिं्रट मीडिया म बाल अधिकार मन के उल्लंघन, स्कूल मन म या परोसी मन डाहर ले लइका मन के शोषण अउ स्कूल मन म बुनियादी ढंाचा म कमी लइका मन के प्रतियोगिता परीक्षा शुल्क संबंधी, स्कूल मन म लइका मन संग शारीरिक शोषण अथवा प्रताड़ना, स्कूल मन म प्रवेश नइ देना, विकलंागता संबंधी शिकायत, भेदभाव पूर्ण व्यवहार, यौन शोषण ले पीड़ित लइकन के मुआवजा, चिकित्सा लापरवाही, बालक मन ले विश्वासघात, बालक मन के मामला म निष्क्रियता, लइकन के रोग संबंधी, कुपोषण, मध्यान्ह भोजन, मादक द्रव्य मन के सेवन अउ नशा अउ पुनर्वास संबंधी मामला के शिकायत मन ल आयोग के आगू म दर्ज करा सकत हे। राजनांदगांव जाए बर निःशुल्क बस सेवा 12 जुलई के जयस्तंभ चैक बेमेतरा ले बिहिनिया 07.00 बजे रवाना होही।



चटकारा
सोनू:- भाई मोर बाँटी अतका भन्नावत जाथे अउ कतको दूर के बाँटी ल होवय टिप देथे, जाने।
मोनू:-मोरो नेम अइसे हे बाबू रे,जेन डारा म लबेदा मारथौ बर-बर , बर-बर आमा झरे लगथे।
सोनू:- त भाई ए बछर हमर बगीचा म आमा टोरे बर बनिहार नइ लगावन, तैं मैं मिलके झर्राबो, ठीक हे।
मोनू:- ठीक हे यार !

Related posts