गेंगरूवा (केंचुवा) के नवा प्रजाति “जय गोपाल”

पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई) ह स्वेदशी केंचुवा के प्रजाति “जय गोपाल” विकसित करे हे। ये केंचुआ 2 ले 46 डिग्री सेल्सियस तापमान म घलोक जिन्दा रइही। दुसर प्रजाति मन के केंचुवा मन 30 ले 40 डिग्री तापमान म ही जिन्दा रहिथें। “जय गोपाल” प्रजाति के केंचुवा ले बने जैविक खाद बनेच गुणवत्ता वाले होथे। ए केंचुवा मन म एमीनो एसीड अऊ प्रोटीन होथे जऊन मुर्गीपालन अऊ मछली पालन म आहार के काम घलोक करथे।




ए केंचुवा मन के विकसित होए ले किसान मन ल अच्छा लाभ मिलही। गोबर अऊ जैविक घुरवा के अधिकता वाले गांव मन म “केंचुआ पालन अऊ जैविक खाद बनाए के उद्योग लगाए जा सकत हे। इहां एखर तकनीक के ट्रेनिंग घलोक दे जाथे। किसान भाई मन आईवीआरआई म ए तकनीक बर इंखर से संपर्क कर सकत हे- डॉ. रणवीर सिंह, जयगोपाल वर्मीकल्चर तकनीकी इनोवेटर, 0581-2303382 अउ डॉ आर पी सिंह प्रभारी आईवीआरआई, इज्जतनगर 0581-2301940.




चित्र प्रतीकात्‍मक है

Related posts