अब होही प्याज के बेहतर संरक्षण

प्याज ल सुरक्षित रखे बर कानपुर के चंद्रशेखर आजाद कृषि अउ प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के उधान विभाग के वैज्ञानिक मन कोति ले प्याज संरक्षण के बेहतर मॉडल विकसित करे गए हे। ए प्याज संरक्षण के मॉडल म चार ले पांच महीना तक प्याज ल सुरक्षित रखे जा सकत हे। प्याज के दू प्रजाति “कल्याणपुर लाल गोल” अउ “एग्री फाउंड लाइटवेट” म एकर परीक्षण सफल पाए के बाद अब ये मॉडल किसान मन के खेत तक पहुंचाए के तैयारी हे। किसान मन ल जून या जुलाई म ए मॉडल बर प्रशिक्षण देहे के योजना हे। ए मॉडल म प्याज के खोदाई करे के बाद ओखर बने सफाई करके ओखर भंडारण प्लास्टिक के डलिया म रखके करे जाथे। ए डलिया मन के क्षमता 20 ले 22 किलोग्राम होथे। तेज धूप म प्याज सूखा जाथे जबकि नमी जादा होए म ये सरे लागथे। ये भंडारण गृह ए प्रकार ले बनाए गए हे जेमां फर्रस के अलावा चारों कोति ले हवा के आना जाना बने रहिथे। बाहिर के तापमान चाहे जतका जादा हो जाए, भीतरी म ओखर कोनो फरक नइ परय। प्याज के पैदावार के समय ओखर कीमत कम होथे फेर चार महिना बाद वो ह ढाई ले तीन गुना बाढ़ जाथे। ए हिसाब ले अब संरक्षण के बाद किसान मन ओला बाद म घलोक बेच के लाभ ले सकही।

ईफको किसान ले https://naidunia.jagran.com/national-azad-agriculture-university-prepared-new-improved-onion-preserve-model-2964247

Related posts